खुले में शौच से मुक्त हुआ शबाना आज़मी का पैतृक गांव मिजवां, उत्सव बाद निकली गौरव यात्रा

खुले में शौच से मुक्त हुआ शबाना आज़मी का पैतृक गांव मिजवां, उत्सव बाद निकली गौरव यात्रा

फूलपुर/आजमगढ़। स्वच्छ भारत मिशनके अर्न्तगत खुले में शौच मुक्त यानी "ओ डी एफ" होने के अवसर पर सोमवार को मिजवां गांव में अधिकारियों की उपस्थिति में गौरव यात्रा निकाली गयी। इस दौरान कैफी आजमी गर्ल्स इण्टर कालेज परिसर में उत्सव मनाया गया। फूलपुर विकास खण्ड के ग्राम पंचायत बक्सपुर का राजस्व गांव मिजवां खुले में शौच मुक्त घोषित किया गया है। जिसे लेकर सोमवार को कैफी आजमी गर्ल्स इण्टर कालेज में उत्सव का आयोजन किया गया। जिसमें काफी संख्या में ग्रामीण महिलाएं एवं शामिल हुए।

खुले में शौच से मुक्त हुआ शबाना आज़मी का पैतृक गांव मिजवां, उत्सव बाद निकली गौरव यात्रा

उत्सव के दौरान खण्ड विकास अधिकारी फूलपुर लालजी पटेल ने कहा कि गांव के लोगों द्वारा गांव को ओडीएफ घोषित करने में महत्वपूर्ण योगदान मिला है। बताया कि मेजवां गांव में 95 शौचालय का निर्माण हो चुका है। 64 स्नानगृह का निर्माण कराया जाना है। 15 स्नानगृह का निर्माण हो चुका है। जबकि 15 पर काम चल रहा है। उन्होंने इस कार्य के लिए गठित सर्तकता टीम की भी सराहना की। कहा कि इस कार्य में मिजवा वेलफेयर सोसाइटी के प्रबंधक आशुतोष त्रिपाठी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। कहा कि बक्सपुर के लोगों के लिए भी शौचालय की व्यवस्था करायी जायेगी। इसके बाद उपस्थित ग्रामीणों एवं स्कूली छात्र छात्राओं ने गौरव यात्रा निकाली। गौरव यात्रा में स्कूली बच्चे आगे आगे बैण्ड बाजा बजाते हुए चल रहे थे। साथ में विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी चल रहे थे।

अध्यक्षता आशुतोष त्रिपाठी एवं संचालन जितेन्द्र कुमार मिश्रा ने किया। इस मौके पर डीपीआरओ के प्रतिनिधि एडीओ पंचायत सठियाव मक्कल यादव, स्वच्छ भारत मिशन के डिसटिक कोआर्डिनेटर सैयद हसन नकवी, फरेन्द्र पाठक, राममिलन प्रजापति, ग्राम विकास अधिकारी प्रमोद यादव, सीएचसी प्रभारी एसएन गौतम, रविशंकर सिंह आदि रहे।